Shayari

मैं तो चिराग हुँ तेरे आशियाने का

मैं तो चिराग हुँ तेरे आशियाने का, कभी ना कभी तो बुझ जाऊंगा, आज शिकायत है तुझे मेरे उजाले से, कल अँधेरे में बहुत याद आऊंगा.. … दिल की...
आगे पढ़े »
Shayari

फज़ूल

तुम हंसो तो दिन , चुप रहो तो रातें हैं , किस का ग़म , कहाँ का ग़म , सब फज़ूल बातें हैं  ...
आगे पढ़े »
Shayari

अपना

हक़ीक़त हो तुम कैसे तुझे सपना कहूँ तेरे हर दर्द को में अपना कहूँ सब कुछ क़ुर्बान है मेरे यार पर कौन है तेरे सिवा जिसे में अपना कहूँ...
आगे पढ़े »
Shayari

धड़कन

अगर रुक जाये मेरी धड़कन तो मौत ना समझना कई बार ऐसा हुआ है, तुझे याद करते करते ..!!!!...
आगे पढ़े »
Shayari

पैमाइश

मोहब्बत में कोई फरमाइश न करना मेरी ग़ुरबत की फिर नुमाइश न करना जान तो मुस्कुरा कर दूंगा अगर चाहो वफ़ा के नाम पर हिजर आज़माइश न करना खाव्बों...
आगे पढ़े »