कब तक प्यार के एक पल का इंतज़ार करना होगा ;
कब तक इस इंतज़ार की आग में यूँही जलना होगा ;
मेरे दिल से अब सबर और न होगा ;
आखिर कब तक तुम्हारे साथ , एक पल जीने के लिए ;
मुझे यूँही पल पल मरना होगा !

 

Comments

comments