जो मेरी आँखों के रास्ते, मेरे दिल तक पहुंचा ,
वो महाजिर तो हुकूमत पे उत्तर आया है

Comments

comments